Bijli Meter: बिना मालिकाना हक के भी लग जाएगा बिजली मीटर, सरकार ने दी जानकारी

Bijli Meter News | गांवों में 24 घंटे बिजली देने में हरियाणा देश में पहले स्थान पर है. हरियाणा एक ऐसा राज्य है जहां शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी बिजली की आपूर्ति की जा रही है. इतना ही नहीं, झुग्गी-झोपड़ियों और अस्थायी कॉलोनियों में रहने वाले परिवारों को भी बिजली कनेक्शन दिए जा रहे हैं. हरियाणा सरकार का मुख्य लक्ष्य राज्य के हर कोने तक बिजली पहुंचाना है.

अब झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले को भी मिलेगी सुविधा

पहले राज्य के लोगों को बिजली कनेक्शन लेने के लिए कई तरह के दस्तावेज जमा करने पड़ते थे, लेकिन अब बिजली विभाग ने लोगों की इस परेशानी को दूर कर दिया है. लगभग सभी के पास सामान्य दस्तावेज होते हैं, लेकिन मुख्य झुग्गी-झोपड़ी और अनियमित कॉलोनी को रोशन करने के लिए मुख्य दस्तावेजों में से एक संपत्ति के स्वामित्व का प्रमाण पत्र है. लेकिन अब झुग्गी-झोपड़ियों और अनियमित कॉलोनियों के निवासियों को बिजली कनेक्शन लेने के लिए सिर्फ आवेदन करना होगा, उनसे कोई अन्य दस्तावेज नहीं मांगा जाएगा.

मात्र इतने दिनों में मिल जायेगा बिजली कनेक्शन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अस्थायी कॉलोनियों और झुग्गियों में रहने वाले लोगों को बिजली कनेक्शन के लिए जमीन के स्वामित्व का प्रमाण पत्र देने की जरूरत नहीं है, बल्कि उन्हें इसके लिए बिजली निगम या बोर्ड को शपथ पत्र देना होगा. जिसमें स्पष्ट शब्दों में लिखा होगा कि उपभोक्ता जो बिजली कनेक्शन ले रहा है, वह अस्थायी है और उस पर उसका कोई मालिकाना हक नहीं है. इतना ही नहीं, जैसे ही आप बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन करेंगे, आपको 1 महीने के अंदर नया बिजली कनेक्शन मिल जाएगा.

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि वे राज्य के नागरिकों की बिजली कनेक्शन से जुड़ी समस्याओं को खत्म करने के लिए हेल्पलाइन नंबर और कॉल सेंटर शुरू करें. ताकि नागरिक को बिजली कनेक्शन से संबंधित कोई भी जानकारी आसानी से मिल सके और जब भी उपभोक्ता आवेदन करेगा तो उसके मोबाइल पर एक संदेश भेजा जाएगा कि उसे बिजली कनेक्शन कब मिलेगा.

Leave a Comment